Cancer
Health

Cancer : कैंसर क्या है, यहां से जाने इसके लक्षण और इलाज

Cancer : दोस्तों आप तो कैंसर के बारे में जानते ही होंगे अगर नहीं जानते हैं तो आप सभी को बता दे की कैंसर एक जानलेवा बीमारी है जो कि हमारे शरीर में उत्पन्न होता है कैंसर का नाम सुनते ही लोगों के मन में एक डर पैदा हो जाता है पूरे धरती पर कैंसर बीमारी का दूसरा सबसे बड़ा कारण बना हुआ है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार पूरे दुनिया में आज के समय में प्रत्येक वर्ष करोड़ पेशेंट के मामले आते रहते हैं।

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आप सभी को बता दे वाले हैं कि कैंसर की बीमारी क्या होती है इसे कैसे बचा जा सकता है एवं इसका होने का लक्षण क्या है तथा यह कितने फेज पर होते हैं इस सभी चीजों की जानकारी इस आर्टिकल में देने वाले हैं तो इस आर्टिकल को एक बार आज तक जरूर पढ़ें।

Cancer : कैंसर क्या है?

आप सभी को बता दे की कैंसर हमारे शरीर के लिए एक जानलेवा बीमारी है जो कि आज के समय में हमारे पृथ्वी पर बहुत तेजी से बढ़ रहा है इस रोग से शरीर की कोशिका गलत तरीके से विकसित होती है और बढ़ती है। शैवाल शरीर के कोशिकाओं का लाभ है कि वह अपने दिया के अनुसार बढ़ती और बढ़ जाने वाली पुरानी कोशिका को समाप्त कर दे लेकिन कैंसर के बावली कोशिका इस प्रक्रिया को खराब कर देती है। जिससे यह रोग शरीर के विभिन्न हिस्सों में एक या एक से अधिक गांठ के रूप में फल जाते हैं जिसे हम लोग ट्यूमर्स के नाम से भी जाते हैं। liveupdatenews

कैंसर का लक्षण

सभी कैंसर का लक्षण उसके प्रकार और स्थान के अनुसार अलग-अलग भाग का होता है। कुछ ऐसे लक्षण भी है जिसके बारे में आपको नीचे बताया गया है।

  • शरीर की वजन में अचानक से कमी आ जाना या फिर वजन को बढ़ाना।
  • ज्यादा थकान और शरीर में कमजोरी का महसूस होगा।
  • त्वचा के ऊपर गांठ का बनना
  • पाचन संबंधित समस्या तथा कब्ज या फिर दस्त का होना।
  • आवाज में बदलाव आना।
  • जोड़ो और मांसपेशियों में दर्द का होना।
  • जख्म ठीक हुआ होने में ज्यादा समय को लगना।
  • बहुत कब भूख लगना।

Cancer : कैंसर होने का कारण

वैसे तो कैंसर का बहुत सारा कारण हो सकते हैं और इसका कारण को अच्छी तरह से मालूम नहीं किया जा सकता है लेकिन कुछ ऐसे मुख्य कारण है जिसके बारे में नीचे बताया गया है।

ध्रुमपान : तब आपको और सिगरेट में उपस्थित निकोटिन और कैरासिनोजेंस के कारण से कैंसर बीमारी जन्म होने की संभावना को बढ़ाती है।

शराब पीना : आज के समय में ऐसे बहुत लोग हैं जो अधिक मात्रा में शराब पीते हैं जिससे उनको कैसे बीमारी के खतरे में बढ़ोतरी हो सकती है।

अपूर्ण आहार : अपूर्ण आहार और अस्वस्थ आहार का सेवन करने से भी कैंसर बीमारी हो सकता है।

पर्यावरण के कारण : पर्यावरण से भी कैंसर का बीमारी हो सकता है जैसे की जलवायु परिवर्तन रेडिएशन और कृषि रसायनों के यात्रा के बारे में भी हम लोगों को विचार करना चाहिए।

आयु : जब हमारी उम्र बढ़ती है उसके साथ केसर के खतरे में बढ़ोतरी हो सकती है क्योंकि बच्चे उम्र के साथ शरीर में स्वस्थ संरक्षण पर डालें कमजोर हो सकती है।

विषेश जीवाणु और इंफेक्शन : कुछ ऐसे भी विशेष दिवाली और इंफेक्शन होता है जो की कैंसर के खतरे को वृद्धि कर सकता है जैसे कि हेपेटाइटिस बी और सी ह्यूमन पपिल्लोमा वायरस इत्यादि।

Cancer : कैंसर से बचने का उपाय

अगर आपको कैंसर से बचना चाहते है तो आप अपने लाइफस्टाइल में बदलाव लाए और हेल्दी लाइफ पर स्टाइल को अपना कर बीमारियों को कम कर के कैंसर के बीमारी से बच सकते हैं। कैंसर से बचने का नीचे कुछ महत्वपूर्ण उपाय बताया गया है।

  • शराब का सेवन न करें
  • ध्रुमपान से बचे
  • फाइबर युक्त आहार का सेवन करें।
  • अधिक मात्रा में फैट (बसा) लेने से बच्चे
  • टेंशन तथा तनाव से बचे
  • समय समय पर बीएमआई चेक करते रहे
  • हेल्दी जीवनशैली को अपनाए।

Cancer : कैंसर के कितने स्टेज होते हैं

कैंसर का अधिकतर मामले ट्यूबर का कारण होता है और इसे  मुख्य 4 स्टेज में बांटा गया है जो कि आपको नीचे बताया गया है।

स्टेज 1. इस स्टेज में आपको कैंसर नहीं होता है लेकिन शरीर में ऐसे कुछ असाधारण कोशिकाएं उपस्थित हो सकती है जो की आपके शरीर में कैंसर की संभावना को बढ़ा सकती है।

स्टेज 2. इस स्टेज में कैंसर का फीवर छोटी मात्रा में होती है। इस बैक कैंसर की कोशिका सिर्फ एक क्षेत्र में विकसित हुई रहती है।

स्टेज 03 : तीसरा स्टेज में कैंसर वाला ट्यूबर की वृद्धि हो जाती है और आसपास के टिशु और लिम्फ नोड्स तक विकसित हो जाता है।

स्टेज 4 : इस स्टेज में कैंसर काफी खतरनाक होती है और जल्लेवा भी साबित हो सकती है इस स्टेज में आसपास या दूर के दूसरे शारीरिक अंग तक विकसित हो जाता है। जिसे सेकेंडरी और मेटास्टेटिक कैंसर भी कहते है।

Cancer : कैंसर का इलाज

कैंसर का इलाज इसके स्टेज और स्थान के आधार पर किया जाता है यह चिकित्सा के द्वारा तय किया जाता है कि आपका कैंसर के लिए कौन सा उपचार सही रहेगा। यह आप तौर पर केसर का इलाज सर्जरी नॉन सर्जरी हार्मोन थेरेपी, ह्यूमन थेरेपी, कीमोथेरेपी और स्टेम सेल ट्रांसप्लांट इत्यादि के द्वारा की जाती है। कैंसर ट्रीटमेंट का इलाज कुछ ऐसे तरीके से किया जाता है इसके बारे में आपको नीचे बताया गया है।

सर्जरी : कैंसर का इलाज सर्जरी के द्वारा कोशिकाओं के असाधारण रूप से वृद्धि होने वाले हिस्से को काटकर फेंक दिया जाता है इस प्रक्रिया को बायोप्सी अधिक के द्वारा की जाती है। अगर कैसा दूसरे हिस्से में नहीं पहुंचता है तो सबसे बेस्ट ऑप्शन सर्जरी माना जाता है।

रेडियम थेरेपी: यह अप डाउन सर्जिकल प्रक्रिया है इसमें रेडियोथैरेपी कैंसर कोशिकाओं पर डायरेक्ट जोड़ देता है इसमें गामा रेडिएशन की सहायता से अनियमित रूप से विकसित हो रही कोशिकाओं को खत्म कर दिया जाता है।

किमोथेरेपी : कीमोथेरेपी में कैंसर का इलाज के लिए बहुत सारे चरण होते हैं इसमें कुछ विशेष प्रकार के ड्रग्स दवा के जरिए बढ़ रहे कैसे कोशिका को खत्म किया जाता है।

इम्यूनोथेरेपी : इम्यूनोथेरेपी इम्यूनो सिस्टम को कैंसर कोशिका से लड़ने के लिए मजबूत बनाता है।

हार्मोन थेरेपी : हर्बल थेरेपी हार्वर्ड के प्रभावित कैसे का इलाज किया जाता है और इस थेरेपी में प्रोस्टेट कैंसर और अस्तर कैंसर का काफी सुधार हो जाता है।

डिस्क्रिप्शन : दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा इस आर्टिकल के माध्यम से दी गई जानकारी अच्छी लगे हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को शेयर जरूर करें और इसी तरह के और भी आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं तो हमारे इस वेबसाइट से जरूर जुड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *